Desh Bhakti Kavitayen | देशभक्ति पर आधारित सुन्दर कविताएँ

Desh Bhakti Kavitayen

Desh Bhakti Kavitayen Poem on Patriotism in Hindi #1 मातृभूमि तेरे चरणों में अपना शीश झुकाऊं सुन पुकार हंस बलबेदी पर अपने प्राण चढ़ाऊँ जीवन का उद्देश्य तुम्हारा कण कण हरा बनाना तन मन धन कर अर्पित, तेरा अनुपान रूप सजाना कर परास्त तेरे रिपुओं को निज कर्तव्य निभाऊं | करू श्रेष्ठ संपन्न विश्व में तुम्हे महान बनाऊं || डॉ० चक्रधर नलिन Poem on Patriotism in Hindi #2 ओ! भारत के वीर सिपाही कभी ना तुम घबराना पर्वत नदिया और समंदर पार सभी कर जाना जब दुश्मन आता सीमा पर उसको मार भगाते फिर न लौटकर वापस…

read more

Poem on Mother in Hindi | माँ का प्यार

poem on mother in hindi

Poem on Mother in Hindi इन कविताओं (Poem on Mother in Hindi) में कवि ने मां के महत्व को बताया है| किस तरह माँ, बच्चो के सारे कष्टों को अपने ऊपर ले लेती है और हर कदम पर बच्चे का मार्गदर्शन करती है| Poem on Mother in Hindi #1 हजारो फूल चाहिए, एक माला बनाने के लिए, हजारों दीपक चाहिए, एक आरती सजाने के लिए, हजारों बूंदे चाहिए, समुंदर बनाने के लिए, परंतु मां अकेली ही काफी है, बच्चों की जिंदगी को स्वर्ग बनाने के लिए|   Poem on Mother in Hindi #2 मैं…

read more

Motivational Poems in Hindi | प्रेरणादायक कविताएं

Motivational-poems-in-hindi

Motivational Poems in Hindi Inspirational Poems in Hindi #1 मै नन्हा सा अंकुर मुझको,  सूरज पाना है | आंधी, पानी, तेज हवाएं, शीत लहर तूफानी | जाना मुझको दूर बहुत है, राह बड़ी अनजानी | चारो तरफ बवंडर फिर भी, जड़े जमाना है | मै नन्हा सा अंकुर मुझको, सूरज पाना है | फूल हमेशा कभी खिले, बस एक बार ही खिलता है | यह जीवन ऐसा जीवन, जो एक बार ही मिलता है | इस छोटे से जीवन में, कुछ कर दिखलाना है| मैं नन्हा सा अंकुर, मुझको सूरज पाना है || राजा चौरसिया  Inspirational Poems in Hindi #2 क्या कहा, कठिन…

read more

Poem on Child in Hindi | बच्चे के प्रति माँ की भावना

poem on child in hindi

बच्चे भगवान का रूप होते हैं ये हम सभी जानते हैं| उनकी प्यारी सी मुस्कान हर किसी के मन को मोह लेती है| इस कविता (Poem on Child in Hindi) में कवि ने यह दर्शाने का प्रयास किया है कि एक बच्चे को देखकर मां के अंदर किस प्रकार की भावना उत्पन्न होती है| Poem on Child in Hindi – मासूम बच्चे पर सुन्दर कविता    Poem on Child in Hindi #1 गुलाब सी कोमल देह है तेरी नन्ही सी मुस्कान आँखे मूँद कर जब तू सोये लगे है सच में भगवान लाल गुलाबी होंठ है…

read more

Poem on Water in Hindi | जल ही जीवन है

Poem-on-Water-in-Hindi

पर्यावरण को बचाना हमारा नैतिक कर्तव्य ही नहीं है, बल्कि हमारी बहुत बड़ी जिम्मेदारी भी है| इसके लिए बच्चों में नैतिकता का संचार करते हुए कवि ने अपनी कविता (Poem on Water in Hindi) के माध्यम से जल संरक्षण के संबंध में बहुत ही अच्छी बातें कही हैं:- Poem on Water in Hindi – “जल ही जीवन है”   Poem on Water in Hindi #1 भैया पानी नहीं बहाना, अब घंटे भर नहीं नहाना | पानी बहुत हुआ है महंगा, बड़ा कठिन है पानी लाना | हम सबको है बड़ा जरुरी, धरती का पर्यावरण बचाना |…

read more

Poem On Education In Hindi | शिक्षा के महत्व पर सुन्दर कविताये

poem on education in hindi

Poem on Education in Hindi – शिक्षाप्रद कविताएं   Poem on Education in Hindi #1 बहुत जरूरी होती शिक्षा, सारे अवगुण धोती शिक्षा | चाहे जितना पढ़ ले हम पर, कभी न पूरी होती शिक्षा | शिक्षा पाकर ही बनते है, नेता, अफसर, शिक्षक | वैज्ञानिक, मंत्री, व्यापारी, और साधारण रक्षक | कर्तव्यों का बोध कराती, अधिकारों का ज्ञान | शिक्षा से ही मिल सकता है, सर्वोपरि सम्मान | बुद्धिहीन को बुद्धि देती, अज्ञानी को ज्ञान | शिक्षा से ही बन सकता है, भारत देश महान || डॉ० परशुराम शुक्ल    Poem on Education in Hindi #2 प्यारे बच्चो पढ़ो पढ़ो कुछ, जीवन में तुम गढो…

read more

Easy Rangoli Design for Diwali | मनमोहक रंगोली डिज़ाइन्स

diwali rangoli design tamilnadu

Best Rangoli Designs for Diwali   Rangoli Designs for Diwali – Chennai Easy Rangoli Design for Diwali – Hyderabad Diwali Rangoli Design – Tamilnadu Diwali Rangoli Design – Goa Free Hand Rangoli Design Easy Rangoli Design for Diwali at Night पढ़े दिवाली पर आधारित शानदार कविताये :- Hindi Poems on Diwali

read more

Essay on Pollution in Hindi | Paryavaran Pradushan | प्रदूषण

Essay on Pollution in Hindi – पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध प्रदूषण (Pollution), वायु, जल एवं स्थल की भौतिक रासायनिक और जैविक विशेषताओं में होने वाला वह अवांछनीय परिवर्तन है, जो मनुष्य और  दूसरे जंतुओं,  पौधों, उद्योगिक संस्थानों तथा दूसरे कच्चे माल इत्यादि को किसी भी रुप में हानि पहुंचाता है| प्रत्येक जीवधारी अपने विकास और व्यवस्थित जीवन कर्म के लिए एक संतुलित वातावरण पर निर्भर रहता है| हमने इस लेख में पर्यावरण प्रदूषण (Paryavaran Pradushan) के बारे में विस्तार से समझाने का प्रयास किया है तो आइए पढ़ते हैं पर्यावरण में मौजूद विभिन्न…

read more

Essay on Water Pollution in Hindi | जल प्रदूषण

Essay on Water Pollution in Hindi जल प्रदूषण पर निबंध   Introduction: चौदहवी शताब्दी में मोहम्मद तुगलक के जीवनकाल में इस्लाम की दुनिया से एक प्रसिद्ध यात्री इब्नबतूता भारत आया था| उसने अपने संस्मरण में उसने गंगाजल की पवित्रता और निर्मलता का उल्लेख करते हुए लिखा है कि मोहम्मद तुगलक ने जब दिल्ली छोड़कर दोलताबाद को अपनी राजधानी बनाया तो उसकी अन्य प्राथमिकताओं में  गंगा के जल का प्रबंध भी सम्मिलित था| गंगाजल को घोड़े, ऊंट और हाथियों पर लादकर दोलताबाद पहुंचाने में एक से दो महीने लगते थे| कहा…

read more

सत्य का फल

सत्य का फल एक बार विकास नगर के राजा भानु प्रताप के मन में एक बात आई| वह जानना चाहते थे कि जो लोग किसी न किसी अपराध के कारण दंडित किए जाते हैं, उनमें सचमुच कोई पश्चाताप की भावना आती है या नहीं| दूसरे दिन वह राजा अचानक अपने राज्य के बंदी गृह में पहुंच गया और सभी कैदियों से उनके द्वारा किए गए अपराध के बारे में पूछने लगा कि किस कारण से उन्होंने अपराध किया और यहां बंदी ग्रह में कैद हैं| एक कैदी ने कहा:-” राजन!…

read more