101 Anmol Vachan in Hindi | 101 अनमोल वचन | Hindi Suvichar

 101 प्रेरणादायक अनमोल वचन Anmol Vachan Anmol Vachan in Hindi [1 – 20]   1. स्नान से तन की शुद्धि, ध्यान से मन की शुद्धि और दान से धन की शुद्धि होती है| 2. जो दूसरों को हानि पहुंचा कर अपना हित चाहता है वह मूर्ख, अपने लिए दुख के बीज बोता है| 3. श्रद्धा ज्ञान देती है, विनम्रता मान देती है और योग्यता स्थान देती है| 4. जीवन में सब कुछ छोड़ देने के बाद ही सब कुछ मिलता है| 5. जीवन का रहस्य यही है कि सुख से…

read more

समय का महत्व | Time Quotes in hindi | Samay Ka Mahatva

समय का महत्व Samay Ka Mahatva दोस्तों, इस दुनिया में यदि कोई सबसे मूल्यवान वस्तु है तो वह है- समय| जो लोग समय का मूल्य (samay ka mahatva) समझते हैं, वे ही अपने जीवन में महान कार्य करते हैं| समय दिखाई नहीं देता लेकिन वह इस जीवन में हमें बहुत कुछ दिखा देता है| हमें कभी भी अपना समय खराब नहीं करना चाहिए| हमेशा समय का पालन करना चाहिए| जीवन का एक-एक पल कीमती है| समय बहुत तेजी से निकलता जा रहा है, उसका हमेशा सही उपयोग कीजिए| समय का…

read more

Guru Nanak Dev Ji Sakhiyan गुरु नानक देव जी और गरीब की रोटी

Guru Nanak Dev Ji Sakhiyan in Hindi  गुरु नानक देव जी और गरीब की रोटी गुरु नानक देव जी (Guru Nanak Dev Ji) के समय एक प्रतिष्ठित व धनी व्यक्ति रहता था जिसका नाम मलिक भागो था| एक दिन उसने अपने पिता का श्राद्ध किया| दूर-दूर से संत महात्मा बुलाए गए और भोजन खिलाया गया, ताकि उसे धर्म लाभ मिल सके| उन दिनों गुरु नानक देव जी भी उस स्थान पर आए हुए थे| गुरु नानक देव जी(Guru Nanak Dev Ji) एक बढ़ई (लालो) की विनती करने पर वहां आए थे और…

read more

बीरबल का ज्ञान

Akbar Birbal Story # कौन अच्छा ?   Akbar Birbal एक दिन बादशाह अकबर के ध्यान में पांच प्रश्न आए, जिनको उन्होंने सभी दरबारियों से पूछा| बीरबल उस समय दरबार में मौजूद नहीं थे| वे पांच प्रश्न इस प्रकार थे- 1. फल कौन सा अच्छा? 2. दूध किसका अच्छा? 3. मिठाई कौन सी अच्छी? 4. पत्ता कौन सा अच्छा? 5. राजा कौन अच्छा? बादशाह के प्रश्नों को सुनकर दरबारियों में मतभेद पैदा हो गया| किसी ने गुलाब का फूल अच्छा बताया तो किसी ने कमल का फूल| इसी तरह दूध के लिए भी मतभेद…

read more

त्याग, हमें महान बनाता है | Real Sacrifice

त्याग की भावना Sacrifice makes us great   मंत्रों के जाप में जो ‘स्वाहा’ शब्द आता है, उसका अर्थ यही है कि मैं अपने स्वार्थ को त्यागता हूं| मनुष्य को अपनी बुरी आदतों के साथ-साथ अपनी बुरी संगति का त्याग भी शीघ्र करना चाहिए| जैसे नदियां अपना जल स्वयं न पीकर दूसरों के लिए लुटाती(sacrifice) है| पेड़ अपने फल खुद ना खा कर दूसरों को खिलाते हैं|मां, बच्चे के लिए अपना सब कुछ त्याग(sacrifice) करती है एक बीज, वृक्ष बनने के लिए स्वयं का त्याग(sacrifice) मिट्टी से मिलकर करता है…

read more

सादा जीवन उच्च विचार

सादा जीवन उच्च विचार सादा जीवन उच्च विचार का अर्थ यही है कि मनुष्य के स्वभाव में सादगी हो और विचार उच्च हो|   जो व्यक्ति अपनी धन संपदा या ज्ञान का दिखावा करता है, वास्तव में वह अज्ञानी होता है| धन संपदा, ज्ञान से समृद्ध होने के बाद व्यक्ति का जीवन फल से लदे वृक्ष की तरह हो जाना चाहिए| जिस तरह पेड़ पर फल लगते हैं तो वह नीचे की ओर झुक जाता है| ठीक उसी प्रकार ज्ञान अथवा धन प्राप्त करने के बाद मनुष्य को भी विनम्र…

read more

जैसा अन्न वैसा मन

जैसा अन्न वैसा मन एक बार एक ऋषि, अतिथि के तौर पर एक राजा के यहां पहुंचे| राजा ने उनका खूब आदर सत्कार किया और उन्हें भोजन कराया| भोजन करने के कुछ घंटों बाद ही ऋषि की मनोवृत्ति में अंतर आ गया और उन्होंने राजा का हार चुरा लिया|   अब राजा धर्म संकट में पड़ गया कि ऋषि पर दोष कैसे लगाएं? काफी सोच विचार करने के बाद विद्वानों ने राय दी, “महाराज, अन्न का प्रभाव मन पर भी पड़ता है| हो सकता है कि राजकोष का यह अन्न…

read more

ऋषि का अहंकार

ऋषि का अहंकार   बूढी मां और लाचार बाप को बिलखता छोड़ कर एक ऋषि तपस्या करने के लिए वन में चले गए| तप करने के बाद जब ऋषि उठे तो देखा कि एक कौवा अपनी चोंच में एक चिड़िया का बच्चा दबाकर उड़ रहा है| ऋषि ने क्रोध से कौवे की ओर देखा| ऋषि की आंखों से अग्नि की ज्वाला टूट पड़ी और कौवा जलकर वही खत्म हो गया| अपनी इस सिद्धि को देकर ऋषि फूले नहीं समा रहे थे| अहंकार से भरे हुए ऋषि मठ की ओर चल…

read more

Achi Baatein in hindi | जीवन की सच्चाई

Achi Baatein in Hindi दोस्तों, हमारा जीवन यानी मानव जीवन बड़ा ही विचित्र है| इस जीवन में कुछ लोग एक दूसरे से प्यार करते हैं वहीं कुछ लोग एक दूसरे से नफरत भी करते हैं| यहां तक कि आदमी, आदमी से भाग रहा है| आज का इंसान हर दौड़ में आगे निकल जाने का प्रयास करता है पर यह दौड़ कैसी है और कब तक चलने वाली है?   Achi baatein in hindi कहीं ना कहीं जाकर तो यह दौड़ खत्म हो जाती है| यह सब के साथ होता है|…

read more