Chanakya Niti in Hindi | संपूर्ण चाणक्य नीति हिंदी में

चाणक्य नीति Chanakya Niti in Hindi जब कहीं भी इतिहास में चंद्रगुप्त मौर्य का नाम आता है तो हमेशा दिमाग में एक चीज और आती है और वह है चाणक्य नीति (Chanakya Niti)| चाणक्य नीति (Chanakya Niti) विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक कला है| आचार्य चाणक्य (Chanakya) ने जब मानव जाति के धर्म को बंधनों में जकड़े देखा तो उन्होंने सोचा कि आज मानवता को धर्म के बारे में पूरा ज्ञान देना आवश्यक है, इस तरह जन्म होता है चाणक्य नीति (Chanakya Niti) का| Chanakya Niti  एक साधारण युवक चंद्रगुप्त मौर्य को राजा…

read more

चाणक्य के 75 अनमोल वचन | Chanakya Quotes in Hindi

चाणक्य के अनमोल विचार Chanakya Quotes in Hindi   कौन थे चाणक्य? चाणक्य, मौर्य वंश के महान सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे और तक्षशिला के निवासी थे| वह ‘कौटिल्य’ के नाम से भी प्रसिद्ध है| चाणक्य ने ही नंद वंश का नाश करके चंद्रगुप्त मौर्य को राजा बनाया था| अर्थशास्त्र, राजनीति, कृषि और समाज नीति आदि में चाणक्य का बहुत बड़ा योगदान है| एक साधारण युवक(चंद्रगुप्त मौर्य) को राजा बना देने की शक्ति केवल चाणक्य के पास ही थी| मौर्य साम्राज्य के संस्थापक के रूप में महापंडित विष्णुगुप्त चाणक्य को…

read more

Panj Pyare | पंज प्यारे की कहानी

panj pyare

Panj Pyare Story in Hindi मुगलों के शासन के दौरान औरंगजेब का आतंक बढ़ता ही जा रहा था और अपने पिता गुरु तेग बहादुर के बलिदान जैसी घटना ने गोविंद राय (गुरु गोविंद सिंह) के मन को झकझोर कर डाला था| उन्होंने संकल्प लिया कि समय आने पर वह पीड़ितों की रक्षा करने के लिए सिंहो के समान निर्भीक, बहादुर लोगों का खालसा पंथ स्थापित करेंगे| Panj Pyare इसके लिए गुरु गोविंद सिंह जी ने बैसाखी के पावन पर्व पर आनंदपुर साहिब के विशाल मैदान में सिख समुदाय के लोगों…

read more

Bhagwan Ram story in Hindi | हिंसा की सजा

Bhagwan Ram story – हिंसा की सजा राम (Bhagwan Ram) बहुत ही न्याय प्रिय राजा थे| वह प्रतिदिन लोगों की मुश्किलें हल करने की कोशिश करते थे| एक दिन शाम को उन्होंने लक्ष्मण को बाहर जाकर देखने को कहा कि कोई और व्यक्ति तो इंतजार नहीं कर रहा है|   Bhagwan Ram बाहर जाकर लक्ष्मण की नजर एक कुत्ते पर पड़ी जो बहुत उदास बैठा था| लक्ष्मण ने उससे पूछा कि तुम उदास क्यों हो? कुत्ता बोला:- मैं राम से न्याय चाहता हूं| लक्ष्मण उसे अंदर ले गए| कुत्ते ने…

read more

Teacher student story (क्लास टीचर का सबक)

क्लास टीचर का सबक A teacher student story एक बार एक student जल्दबाजी में अपनी सीट पर पहुंचने के चक्कर में दूसरे student से टकरा गया| दूसरा student बोतल से पानी पी रहा था तो धक्का लगने की वजह से पानी उसकी कमीज पर गिर गया और उसकी कमीज गीली हो गई| दूसरा student पहले student पर चिल्लाया, देख कर नहीं चल सकते क्या अंधे? पहले student ने विनम्रता से जवाब देते हुए:- कहा माफ करना गलती से लग गया| लेकिन पहला student जितनी विनम्रता से माफी मांग रहा था दूसरा…

read more

Real Happiness | सुख एक feeling है और यह temporary है

Real Happiness इस दुनिया में सब कुछ पाने की हमारी इच्छाओं का कोई अंत नहीं है हर किसी को इस दुनिया में सुख चाहिए| जबकि खलील जिब्रान का कहना है सुख-दुख साथ-साथ हमेशा साथ-साथ रहते हैं|Life में अगर सुख है तो साथ ही दुख भी है| एक ही सिक्के के दो पहलू हैं जो कभी हमारे जीवन से दूर नहीं हो सकते| आज के इस दौर में बहुत से लोग किसी भी तरह से अपनी इच्छाओं की पूर्ति करना चाहता है| इच्छाओं की पूर्ति के बाद जो हमें मिलेगा उसका…

read more

सादा जीवन उच्च विचार

सादा जीवन उच्च विचार सादा जीवन उच्च विचार का अर्थ यही है कि मनुष्य के स्वभाव में सादगी हो और विचार उच्च हो|   जो व्यक्ति अपनी धन संपदा या ज्ञान का दिखावा करता है, वास्तव में वह अज्ञानी होता है| धन संपदा, ज्ञान से समृद्ध होने के बाद व्यक्ति का जीवन फल से लदे वृक्ष की तरह हो जाना चाहिए| जिस तरह पेड़ पर फल लगते हैं तो वह नीचे की ओर झुक जाता है| ठीक उसी प्रकार ज्ञान अथवा धन प्राप्त करने के बाद मनुष्य को भी विनम्र…

read more

नाम में क्या रखा है

नाम में क्या रखा है?   एक बार एक संत अपनी कुटिया में विश्राम कर रहे थे| तभी उनका एक शिष्य ‘रामचंद्र’ गुस्से से भरा हुआ आया और बोला, गुरुदेव, लोग बड़े निर्लज्ज हो गए हैं| अब देखिए ना, आप की कुटिया के सामने एक व्यक्ति ने बाल काटने की दुकान खोली है और उसकी मूर्खता देखिए| दुकान का नाम रखा है ‘गुरुदेव सैलून’| उसे फौरन बुलाकर नाम बदलने के लिए कहें| नहीं तो मैं उसकी दुकान में आग लगा दूंगा|   संत ने हंसकर कहा, तुम बेकार में ही…

read more

ऋषि का अहंकार

ऋषि का अहंकार   बूढी मां और लाचार बाप को बिलखता छोड़ कर एक ऋषि तपस्या करने के लिए वन में चले गए| तप करने के बाद जब ऋषि उठे तो देखा कि एक कौवा अपनी चोंच में एक चिड़िया का बच्चा दबाकर उड़ रहा है| ऋषि ने क्रोध से कौवे की ओर देखा| ऋषि की आंखों से अग्नि की ज्वाला टूट पड़ी और कौवा जलकर वही खत्म हो गया| अपनी इस सिद्धि को देकर ऋषि फूले नहीं समा रहे थे| अहंकार से भरे हुए ऋषि मठ की ओर चल…

read more

Buddha Story in Hindi बुद्ध का शिष्य को ज्ञान

Buddha Story in Hindi – मितव्ययिता का संदेश   एक दिन भगवान बुद्ध अपने आसन पर बैठे थे और सामने बैठे अपने शिष्यों के साथ बात कर रहे थे| तभी एक शिष्य ने कहा, महात्मन, मुझे नए अंगरखे की जरूरत है इसके लिए आप मुझे अनुमति दें| बुद्ध ने पूछा, तुम्हारे पुराने अंगरखे का क्या हुआ?   Buddha Story in Hindi इस पर शिष्य ने कहा, वह बहुत फटा पुराना हो गया है इसलिए मैं उसे अब चादर के रूप में इस्तेमाल कर रहा हूं| बुद्ध ने फिर पूछा पर…

read more