सत्य का फल

सत्य का फल एक बार विकास नगर के राजा भानु प्रताप के मन में एक बात आई| वह जानना चाहते थे कि जो लोग किसी न किसी अपराध के कारण दंडित किए जाते हैं, उनमें सचमुच कोई पश्चाताप की भावना आती है या नहीं| दूसरे दिन वह राजा अचानक अपने राज्य के बंदी गृह में पहुंच गया और सभी कैदियों से उनके द्वारा किए गए अपराध के बारे में पूछने लगा कि किस कारण से उन्होंने अपराध किया और यहां बंदी ग्रह में कैद हैं| एक कैदी ने कहा:-” राजन!…

read more

जौहरी की मूर्खता | एक अच्छी कहानी

जौहरी की मूर्खता एक बार एक गांव में मेला लगा हुआ था| मेले में एक अनपढ़ आदमी ने कांच के सामान की दुकान लगा रखी थी| दुकान में रंग-बिरंगे अलग- अलग कांच के बने हुए सुंदर आभूषण और कई तरह के कांच के टुकड़े सजे हुए थे| लोग अलग-अलग दुकानों पर सामान देख रहे थे और खरीद रहे थे|  मेले में एक जौहरी भी आया|अचानक उसकी नजर उस दुकान में रखे हुए एक कांच के टुकड़े पर पड़ी जो सबसे ज्यादा चमक रहा था| जौहरी को देखते ही समझ में…

read more

एकाग्रता | एक गरीब किसान की कहानी

एक गरीब किसान की कहानी एक गांव में एक किसान रहता था| वह एक कुआं खोदना चाहता था| एक दिन उसने कुआं खोदना शुरू किया| कुछ फीट तक खुदाई करने पर भी जब उसे पानी नहीं दिखाई दिया तो वह निराश हो गया| फिर उसने दूसरी जगह खुदाई की किंतु पानी कहीं पर भी नहीं निकला| इस तरह 6-7 जगहों पर उसने खुदाई की, किंतु उसे पानी नसीब नहीं हुआ| फिर वह बहुत दुखी और निराश होकर घर लौट गया| अगले दिन उसने सारी बात एक बुजुर्ग व्यक्ति को बताई|उस…

read more

घायल कुत्ता और फकीर | A Dog Story in Hindi

  Dog Story in Hindi एक बार एक फकीर हज यात्रा के लिए जा रहा था तो उसने रास्ते में एक कुत्ते को जख्मी हालत में देखा| उसके चारों पांव पर से गाड़ी गुजर गई थी| और वह चल नहीं सकता था| फकीर को रहम आ गया, लेकिन उसने सोचा कि मैं तो काबे को जा रहा हूं| इसलिए इसको कहां लिए फिरूंगा| फिर फकीर को ख्याल आया कि लेकिन इसका यहां कौन है? कौन इसकी मदद करेगा? और फकीर के मन में दया आ गई| फकीर ने कुत्ते को…

read more

Sikandar Last Words | सिकंदर महान की अंतिम इच्छा

sikandar

The Great Sikandar हम सभी जानते हैं कि सिकंदर-ए-आजम को विश्व विजेता कहा गया है| एक बार सिकंदर (Sikandar) महान सारी दुनिया को जीतता हुआ भारत के उत्तर पश्चिम में ब्यास नदी के पास पहुंचा तो फौज ने आगे बढ़ने से इंकार कर दिया| मजबूर होकर सिकंदर(Sikandar) को वापस लौटना पड़ा| एक दिन सिकंदर (Sikandar) ने ज्योतिषियों से पूछा कि ‘मेरी मौत कब होगी’? ज्योतिषी ने हिसाब लगाकर देखा कि उसकी उम्र बहुत थोड़ी है, लगभग खत्म हो चुकी है| ज्योतिषी ने सोचा कि झूठ कहना अब सही नहीं है, लेकिन उसे अपनी…

read more

राजा जनक को ज्ञान प्राप्ति | Ashtavakra Story

एक बार राजा जनक(Raja Janak) ने ज्ञान प्राप्ति के लिए सभी महात्माओं को बुलाया और कहा:- “जो भी मुझे ज्ञान दे सके वह इस सिंहासन पर बैठ कर दें, लेकिन शर्त यह है कि मुझे ज्ञान इतने समय में चाहिए जितना समय घोड़े पर सवार होने में लगता है”| सभी महात्मा सोचने लगे ज्ञान कोई घोलकर पिलाने वाली चीज नहीं है जो तुरंत ही अपना असर कर दें| इतने में अष्टावक्र(Ashtavakra) भी सभा में आ गए उनका शरीर आठ जगह से मुडा हुआ था और वह कुबड़े थे|   उन्होंने…

read more

राजा का मिट्ठू | Parrot Story in Hindi

राजा का मिट्ठू Parrot Story in Hindi एक समय की बात है किसी व्यक्ति ने महाराजा कृष्णदेव राय को एक तोता भेंट स्वरूप प्रदान किया| वह तोता बड़ी सुंदर सुंदर बातें करता था और यह तोता महाराज के मन को भा गया था| उन्होंने इस तोते को एक नौकर को देकर कहा कि इसके पालन पोषण की जिम्मेदारी आज से तुम्हारे ऊपर है| इसका विशेष ध्यान रखना| यह मुझे अपने प्राणों से भी प्यारा है| यदि इसे कुछ हो गया तो मैं तुम्हारे प्राण ले लूंगा| यदि तुमने या किसी…

read more

बगीचे की हवा

बगीचे की हवा   राजा कृष्णदेव राय का दरबार लगा हुआ था| गर्मी का मौसम था| गर्मी के कारण सभी का बुरा हाल था और सभी दरबारी पसीने से तरबतर हो रहे थे| उनमें से कुछ दरबारी बोले:- “महाराज, सुबह सवेरे बगीचे की हवा बहुत ही शीतल और सुगंधित होती है| क्या ऐसी हवा दरबार में नहीं लाई जा सकती”? शेष दरबारी यह प्रश्न सुनकर चुप हो गए| तब महाराज ने घोषणा की कि जो कोई भी बगीचे की हवा दरबार में लाएगा उसे 1000 स्वर्ण मुद्राएं पुरस्कार में मिलेगी|…

read more

Tenali Raman Stories in Hindi | तेनालीराम के कारनामे

तेनालीराम के कारनामे Tenali Raman Stories in Hindi तेनालीराम के बारे में:- [About Tenali Raman]     विजयनगर राज्य के महाराजा कृष्णदेव राय के दरबार में तेनालीराम का प्रथम स्थान था उनकी गणना महाराज के नवरत्नों में की जाती थी| तेनालीराम बुद्धिमान, राजनीतिज्ञ व चतुर व्यक्ति थे| तेनालीराम बहुत से कठिन प्रश्नों को अपनी बुद्धि के बल पर आसान बना दिया करते थे| वह समय समय पर शासन को उत्तम ढंग से चलाने के लिए राजा कृष्णदेव राय को सलाह भी दिया करते थे| तेनालीराम की शिक्षाप्रद बातें हमें जीवन…

read more

Mulla Do Pyaza | मुल्ला दो प्याजा के 5 मजेदार किस्से

Mulla Do Pyaza Story #1  कोई क्या बिगाड़ेगा   कुछ दिनों से मुल्ला दो प्याजा (Mulla Do Pyaza) बहुत परेशान चल रहे थे| उनका हर काम बनते बनते बिगड़ जाता था|मुल्ला जी बहुत परेशान रहने लगे तो एक दिन उनकी पत्नी ने उनसे कहा कहीं ऐसा ना हो कि तुम्हारे ग्रह खराब चल रहे हो| तुम्हें किसी तांत्रिक से मिलना चाहिए| Mulla Do Pyaza   मुल्लाजी तांत्रिक के पास गए| तांत्रिक ने उन्हें देखकर कहा आप पर शनि की महादशा चल रही है, राहु केतु की दशा भी ठीक नहीं…

read more