Mehnat ka phal | मेहनत का फल

मेहनत का फल Mehnat ka phal एक बार एक गांव में अकाल पड़ गया| पीने के लिए पानी तक नहीं बचा था| लोग, अपना गांव छोड़कर दूसरे गांव में जाने के लिए तैयार हो गए| यह बात सुनकर वहां के राजा को बड़ी चिंता हुई| राजा ने मंत्रियों से सलाह मशवरा किया| मंत्रियों ने राज्य के प्रसिद्ध महात्मा जी से कुछ उपाय जानने के लिए कहा| राजा ने महात्मा जी को बुलवाया और सारी घटना के बारे में बताया और कोई उपाय बताने का आग्रह किया| Mehnat ka phal महात्मा ने…

read more

A farmer story in hindi | परिश्रम का फल

परिश्रम का फल A farmer story in hindi रहमतपुर नामक गांव में एक किसान (Farmer) रहता था| वह बहुत परिश्रमी था| उसके परिश्रम से खेतों में भरपूर फसल पैदा होती थी| किसान के चार बेटे थे| चारों ही बेटे बहुत आलसी थे|वे खेती के काम में उसका साथ नहीं देते थे| किसान उनके आलसीपन से बहुत दुखी था| एक दिन किसान ने अपने बेटों का आलस्य दूर करने के लिए एक उपाय सोचा| वह किसान बीमारी का बहाना करके चारपाई पर लेट गया और अपने चारों बेटों को अपने पास…

read more

असली विजेता मोहन

जीतने का मतलब   एक गांव में मोहन नाम का लड़का रहता था| उसके पिताजी एक मामूली मजदूर थे| एक दिन मोहन के पिताजी उसको अपने साथ शहर ले गए| उनको एक मैदान साफ करने का काम मिला था जिसमें एक दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन होना था| मोहन मैदान देख कर बहुत खुश हुआ| उस दिन उसे भी दौड़ने का शौक चढ़ गया| जब यह दोनों गांव लौटे तो मोहन ने अपने पिता से जिद की कि हमारे गांव में भी दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन होना चाहिए| मोहन के पिता…

read more

Donkey story (विकास की नौकरी और बेवकूफ गधा)

 बेवकूफ गधा – A Donkey story   विकास जिस ऑफिस में काम करता था उसमें ऐसे लोग भी  थे जो विकास के अच्छे काम से बहुत चिढ़ते थे| एक दिन जब विकास खाना खा रहा था| तो उसे अपने पीछे वाली टेबल पर कुछ फुसफुसाहट सुनाई दी| टेबल के बीच में लकड़ी की एक दीवार थी| विकास कान लगाकर सुनने लगा| उसने सुना कि उसके ऑफिस के 2 लोग प्रमोशन के बारे में कुछ बात कर रहे हैं| उसमें से एक ने कहा इस बार वह चाहे जो भी कर ले…

read more

चुनौतियों को देखने का नजरिया

एक बार एक महिला अपने कुछ दोस्तों के साथ होटल में खाना खाने गई| होटल कोई ज्यादा बड़ा नहीं था| यह है ढाबे जैसा था|सब लोग बैठ गए और खाना खाने लगे| तभी कहीं से एक कॉकरोच उड़कर उस महिला के कंधे पर आकर बैठ गया बस फिर क्या था महिला चीखने चिल्लाने लगी| उसे देखकर उसके दोस्त ही नहीं बल्कि होटल के और लोग भी चिल्लाने लगे| महिला की चीख पुकार और उछल-कूद देखकर कॉकरोच ने फिर उड़ान भरी और इस बार दूसरी टेबल पर बैठी एक महिला के…

read more

मौत का डर (सांप, बाज और चूहा)

एक पेड़ पर दो बाज रहते थे दोनों में बड़ा प्रेम था दोनों शिकार की तलाश में निकलते थे और जो भी पकड़ लाते उसे शाम को मिल बैठकर खाते थे| कभी किसी बाज को कुछ नहीं मिलता तो भी कोई परवाह नहीं करता आपस में मिल बांट कर खा लेते थे| बहुत दिन से यही क्रम चल रहा था| एक दिन दोनों शिकार पकड़ कर लौटे, एक की चोंच में चूहा था और दूसरे की चोंच में सांप| दोनों की चोंच में शिकार तब तक जीवित थे| पेड़ पर…

read more

घमंडी घोड़ा और बकरा

एक बकरे की कहानी जो परोपकार के चक्कर में हलाल हो गया एक राजा को जानवर बहुत प्रिय थे राजा ने अपने राज्य में हर प्रकार के जानवरों को इकट्ठा कर रखा था| उन जानवरों में एक बहुत ही खूबसूरत घोड़ा भी था| वह घोड़ा राजा का सबसे प्रिय जानवर था राजा जहां भी जाते थे उस  घोड़े की ही सवारी करते थे दिनभर राजा को अपनी पीठ पर लादे लादे उस बेचारे घोड़े की कमर टूट जाती थी|   हालांकि घोड़े की खातिरदारी भी जमकर होती थी अलग-अलग तरह…

read more