सुख और दुख का हमारे जीवन में महत्व


सुख और दुख का हमारे जीवन में महत्व

 

हम सभी लोग यह सोचते हैं कि जीवन का हमारा लक्ष्य केवल सुख पाना है| दुनिया में कैसे भी करके धन दौलत कमाई जाए और सुखी बना जाए |जबकि  सुख और आनंद का एक ना एक दिन अंत हो जाता है|

 

इस दुनिया में सभी दुखों का कारण यही है कि हम लोग अज्ञानतावश(Ignorantly) यह समझ बैठे हैं कि life में सुख पाना ही सबकुछ है|

 

जितनी शिक्षा हमें सुख से मिलती है उतनी ही शिक्षा हमें दुख से भी मिलती है|

Character formation(चरित्र गठन) में भी सुख और दुख दोनों ही समान रूप से भूमिका निभाते हैं| चरित्र को एक विशेष ढांचे में डालने में अच्छाई और बुराई दोनों का समान अंश रहता है|life मैं अगर देखा जाए तो कभी-कभी दुख बहुत कुछ सिखा जाता है|

 


Related posts

Leave a Comment