Snake Story in Hindi | जहरीला सांप और सपेरा


जब सपेरे ने सांप को आजाद कर दिया

(Snake story)

Snake story

एक बार की बात है जब सपेरा(snake charmer) अपना खेल दिखा कर घर लौट रहा था| तभी अचानक उसकी पोटली से एक सांप (snake) निकल कर भाग गया|

अगली सुबह जब उसने पिटारा खोला, तो एक जहरीला सांप गायब था|  सपेरा डर गया कि कहीं अगर वह सांप किसी को काट लेगा तो बड़ी

मुसीबत हो जाएगी| यह सांप उसका सबसे बड़ा सांप था जिसे देखकर लोग  उसे पैसे देते थे| यह सोचते सोचते सपेरा, सांप की तलाश में

निकल गया| बहुत कोशिश के बावजूद उसे कामयाबी नहीं मिली|

वह लोगों से पूछताछ करते हुए जंगल की ओर निकल गया| सपेरा काफी थक चुका था तो वहीं एक चट्टान पर आराम करने लगा| अचानक

उसकी नजर एक बड़े सांप पर गई जो चट्टान के पास ही बैठा था|सांप को देखकर सपेरे की सांस में सांस आ गई, लेकिन वह उस सांप को पकड़

नहीं सका|पूरा एक दिन बीत गया और सपेरा बहुत परेशान हो चुका था|

पढ़िए और भी प्रेरणादायक कहानियां :-

जंगल में सपेरे को परेशान देखकर एक बुजुर्ग महिला ने पूछा, ‘क्या बात है क्या तलाश कर रहे हो’?

सपेरे ने पूरी घटना के बारे में उस महिला को बताया| महिला ने कहा, ‘जो चला गया उसे जाने दो| तुम जानवरों को कैद क्यों करते हो? उन्हें

आजाद होने दो’| सपेरे ने कहा कि वह रोजी रोटी के लिए ऐसा करता है| महिला ने कहा कि तुम कोई और काम क्यों नहीं करते?

जानवरों पर जुल्म क्यों करते हो?

महिला की बात का असर सपेरे पर हुआ और उसने तय कर लिया कि अब वह सपेरे का काम छोड़कर मेहनत मजदूरी करेगा| जब सपेरे ने

वापस जाने के लिए अपनी टोकरी उठाई तो देखा कि उसका खोया हुआ सांप बैठा हुआ है| वह चाहता तो टोकरी को ढक देता लेकिन सपेरे का

मन बदल चुका था| उसने सांप से कहा कि अब तुम आजाद हो|


Related posts

Leave a Comment