Independence Day Poem in Hindi | 15 अगस्त पर हिंदी कविताएं


Poem on Independence Day in Hindi – 15 अगस्त पर हिंदी कविताएं

 

 

Poem on Independence Day in Hindi #1

15 अगस्त का दिन है बच्चों

आज का दिन है बड़ा महान

बगिया में एक फूल खिला है

नाम है जिसका हिंदुस्तान

ना जाने इस धरती माता पर

कितनी जाने है कुर्बान

जिन वीरो ने प्राण दिए

सब भारत की ही थी संतान

सब भारत के वीर थे वे

सत्य, न्याय वह मान धन की

हिंदुस्तान की, तस्वीर भी थे वे

कितने सिंदूर मिट गए इस धरती पर

उन वीरों के बलिदानों से

आओ आज हम सब मिलकर

करें उन वीरों का गुणगान

और मनाये आजादी का दिन

आज का दिन है बड़ा महान !


Poem on Independence Day in Hindi #2

ये दिन शुभ 15 अगस्त है

गीत खुशी के गाओ

दुःख का सूरज हुआ अस्त है

गीत ख़ुशी के गाओ

कभी कारगिल कभी छम्ब में

कितनी लड़ी लड़ाई

हमने हर दुश्मन को अपने

देखो धुल चटाई

दुश्मन देखो पस्त पस्त है

गीत ख़ुशी के गाओ

मूल मंत्र हो मानव सेवा

जान गण मन हो प्यारा

मिटे देश के लिए तभी हो

जग में नाम हमारा

बच्चा बच्चा आज मस्त है

गीत ख़ुशी के गाओ ||

डॉ० अजेय जनमेजय


Poem on Independence Day in Hindi #3

पिंजरे के हर पंछी

छूट गगन में जाएंगे

जन्मदिवस आजादी का

आज हम मनाएंगे

पाने को आजादी सबने

कैसे जतन किए

भूल ना पाएं उन्हें

जिन्होंने हंसकर जहर पिए

कुर्बानी की ये  गाथाएं

फिर दोहराएंगे

सुख समृद्धि अहिंसा वाली

गंध हवाओं में

फर फर फहरे सदा तिरंगा

दसो दिशाओ में

बिलकुल सूरज के जैसे

भारत चमकाएंगे ||

डॉ० हरीश निगम


Related posts

Leave a Comment