Poems for Kids in Hindi || बच्चो के लिए प्रेरणादायक एवं शिक्षाप्रद कविताएँ


Hindi Poems For Kids – हिंदी बाल कविताएँ

 

kids-hindi-poems
poem for kids in Hindi

Poems in Hindi For Class 8 – कक्षा 8 के बच्चो के लिए हिंदी कविताएँ

 

Poems in Hindi For Class 8 #1

 जो अवसर को खो देते है,

जीवन भर वे रोते है |

भाग्य और किस्मत की बाते

कर्मठ नहीं किया करते है |

अपने कर्मो के प्रकाश से

अंधियारे को वे हरते है |

फसलें वे ही काटा करते

ठीक समय पर जो बोते है |

जीवन पथ में आने वाली

हंसकर आंधी से लड़ना |

मेहनत के बल पर ही केवल

उन्नति की छोटी पर चढ़ना|

कुल के सभी कलंक भागीरथ,

बनकर बच्चे ही धोते है ||

Hindi Poems For Class 8 #2

भूख गरीबी लाचारी को,

इस धरती से आज मिटाये |

भारत के भारतवासी को ,

उनके सब अधिकार दिलाये |

रहे ना कोई आज निरक्षर,

ऐसी नई चेतना लाये |

जाति-धर्म के भेद भूलाकर

सबको अपने गले लगाए |

सत्य न्याय के पथ पर चलकर,

कुछ अभिनव आदर्श बनाये|

अपने आदर्शो के बल पर

एक नया विश्वास जगाये|

भारत के सब भारतवासी,

प्रगति मार्ग पर बढ़ते जाये |

जिस पर गर्व करे जग सारा,

ऐसा भारतवर्ष बनाएं ||

 

Poems in Hindi For kids #3

धरती माँ ने जन्म दिया है, धरती माँ ने पाला है |

किन्तु हाय हमने धरती का, सर्वनाश कर डाला है |

जिन वृक्षो ने धरती माँ के, गहरे जख्मो को पाटा|

बड़े बेरहम होकर हमने, ऐसे वृक्षो को काटा |

आंधी, तूफां, बाढ़, बवंडर, इसे नष्ट कर जायेंगे |

नष्ट अगर धरती होगी तो, हम सब भी मिट जायेंगे ||

 

kids Poems in Hindi For Class 8 #4

लहसुन गुणकारी होता है,

खाओ खून साफ़ होता है |

सर्दी का तो  दुश्मन है,

इसलिए प्रिय जन जन है |

प्याज दवा होती गर्मी की,

लू से हमें बचाती है|

खाना के संग सलाद में,

भोजन शीघ्र पचाती है|

 

Best Hindi Poem for Kids #5

बच्चो अपनी राह बनाओ,

राह बनाकर चलते जाओ |

मंजिल अपने आप मिलेगी,

द्रढ़ प्रतिज्ञ हो कदम बढ़ाओ|

तूफानों से मत घबराओ,

आये कितनी भी बाधाएं,

हिम्मत करके बढ़ते जाओ |

हिम्मत, साहस और लगन से,

जो चाहो सो बन सकते हो |

अपने साथ दूसरो के भी,

जीवन में रस भर सकते हो |

मानव जीवन सर्वश्रेष्ठ है,

इसे न यूँ ही व्यर्थ गवाओ,

कुछ भी बनो, मगर कुछ बनकर,

मानव जीवन सफल बनाओ ||

 

Hindi Poems  For Class 8 #6

फूले से नित हंसना सीखो,

भौरो से नित गाना |

तरु की झुकी डालियो से,

नित सीखो शीश झुकाना |

सीख हवा के झौकों से लो,

हिलना, जगत हिलाना |

दूध और पानी से सीखो,

मिलना और मिलाना |

सूरज की किरणों से सीखो,

जगना और जगाना |

लता और पेड़ो से सीखो,

सबको गले लगाना |

मछली से सीखो स्वदेश के,

लिए तड़प कर मरना |

पतझड़ के पेड़ो से सीखो,

दुःख में धीरज रखना |

पृथ्वी से सीखो प्राणी की,

सच्ची सेवा करना |

दीपक से सीखो जितना,

हो सके अँधेरा हरना |

जल धारा से सीखो,

जीवन पथ में बढ़ना |

और धुए से सीखो हरदम,

          ऊंचाई पर ही चढ़ना ||

Poem in Hindi For kids

कुछ हास्य विनोद से भरपूर और हास्य रस पान कराने वाली और बच्चो के मन को मोह लेने वाली सुन्दर कविताएँ:-

 

Poem in Hindi For Class 1 #1

सुबह सुबह जब उगता सूरज,

लाल गेंद सा लगता सूरज|

दोपहरी में थाली जैसा,

चम् चम् चमका करता सूरज |

लाल टमाटर सा हो जाता,

शाम ढले जब ढलता सूरज|

Poem in Hindi For Class 1 #2

चिड़िया चावल लेकर आयी

बिल्ली लाई दूध मलाई |

चीनी लाये चूहे राजा

और गिलहरी मेवे ताजा |

तोता लेकर आया दाने

खीर पकाई खरगोशो ने |

सारे बैठे भूल अदावत

मिलजुल खाई सबने दावत |

कोयल ने छेड़ी कव्वाली

बन्दर लगा बजाने ताली |

Poem in Hindi For kids #3

तोते जी ओ तोते जी

पिंजरे में क्यों रोते जी,

तुम तो कभी न पाठशाला जाते

Teacher जी की डाट न खाते |

तुम्हे न रोज नहाना पड़ता

ठीक समय पर खाना पड़ता |

अपनी मर्जी से जागते हो

जब इच्छा हो सोते जी,

फिर क्यों बोलो रोते जी ?

 

Kids Poem in Hindi  #4

घर से निकले चूहे राम

लिए हाथ में लंगड़ा आम |

बड़े चाव से खाते जाते

दिखी सामने बिल्ली एक

लगा चाल में तुरंत ब्रेक

भागे तुरंत छोड़ कर आम

लौटे घर को चूहे राम ||

रूप नारायण सक्सैना


Poem in Hindi For Class 1 #5

चिड़िया रानी आओ ना

अपना गीत सुनाओ ना

मै तो खाता हलवा पूड़ी

तुम भी आकर खाओ ना |

चूहे राजा है शैतान,

चलते हरदम सीना तान

इसलिए तो बिल्ली मौसी,

खींचा करती उसके कान |

चंद्रपाल सिंह 


Poem in Hindi For Class 1 #6

चूहेमल का देखो खेल

चले ऊट की पकड़ नकेल

बुड-बुड, बुड-बुड, बोलै ऊट

मुझे पिला पानी दो घूँट ||

 

Nursery Poem  in Hindi  #7

जोकर मुझे बना दो जी,

मोटी तोंद लगा दो जी

नाक गोल को खूब सजाकर

गोल -गोल गेंदे चिपकाकर

रोतो को भी खूब हँसाकर|

हँसा – हँसा कर आंसू लाऊ

     जी करता जोकर बन जाऊँ ||


Related posts

Leave a Comment