Adhyatmik story in hindi | आध्यात्मिक ज्ञान


 Adhyatmik story in hindi – आध्यात्मिक ज्ञान

 

आध्यात्मिक ज्ञान (adhyatmik gyan), वह ज्ञान है जिसके अंतर्गत मनुष्य अपने मस्तिष्क (mind) में छिपे हुए आत्मबल को जगह करके

एक माध्यम (link) को विकसित कर सकता है| यह लिंक धीरे-धीरे विकसित होकर अंतरिक्ष की ऊंचाइयों पर पहुंचकर आध्यात्मिक उर्जा के

मुख्य स्रोत (main source) से मिल जाता है|

आप ये धार्मिक कहानियां भी पढ़ सकते हैं:

आप ये भी पढ़ सकते हैं:-

Adhyatmik story in hindi

Adhyatmik story in hindi

आत्मबल द्वारा विकसित यह लिंक जैसे ही इस उर्जा के मुख्य स्रोत से मिलता है, वैसे ही इस लिंक के माध्यम से आध्यात्मिक ऊर्जा, करंट के

रूप में मानव मस्तिष्क तक आना प्रारंभ कर देती है| प्रतिदिन प्रयास करते रहने से मानव मस्तिष्क द्वारा विकसित यह link और भी

शक्तिशाली हो जाता है|

 

Adhyatmik story in hindi

यह link एक प्रकार की आध्यात्मिक चुंबकीय तरंग (Spiritual magnetic wave) होती है जो मानव मस्तिष्क में ईश्वरीय शक्ति के मध्य

आध्यात्मिक चुंबकीय आकर्षण (Spiritual Magnetic Attraction) के फलस्वरूप विकसित होती है|

जैसे-जैसे मनुष्य का आत्मबल बढ़ता जाता है, वैसे-वैसे इस तरंग(wave) की क्षमता भी बढ़ती जाती है जो अंतरिक्ष से आवश्यकतानुसार

आध्यात्मिक ऊर्जा(Spiritual energy) को प्राप्त करके मानव मस्तिष्क तक पहुंचाती रहती है| इसके एक बार विकसित होने के बाद, बार

बार प्रयास नहीं करना पड़ता है| जितनी भी ऊर्जा की आवश्यकता होती है इस link के माध्यम से वह आसानी से उपलब्ध हो जाती है|

आध्यात्मिक ऊर्जा के संपर्क में आने से मनुष्य का मस्तिष्क कंप्यूटर के समान हो जाता है| यह कंप्यूटर केवल आध्यात्मिक ऊर्जा द्वारा ही

क्रियाशील होता है| मस्तिष्क कंप्यूटर के क्रियाशील होने से नई-नई फाइलें मस्तिष्क की स्क्रीन पर दिखाई देने लगती है, जिससे प्रकृति के

नए-नए रहस्यों का ज्ञान होता है|

Adhyatmik story in hindi

जिस प्रकार से मानव निर्मित कंप्यूटर जब इंटरनेट कनेक्शन से जुड़ जाता है, तब कंप्यूटर का कार्यक्षेत्र बढ़ जाता है और यह पूरे विश्व की

जानकारी देने लगता है| ठीक उसी प्रकार से ईश्वर द्वारा निर्मित मस्तिष्क कंप्यूटर भी जब ईश्वर इंटरनेट से जुड़ जाता है तो चमत्कार होता

है|


Related posts

Leave a Comment