महात्मा और खजूर

महात्मा और खजूर महात्मा और खजूर एक ऐसी moral story है जिससे जीवन में यह सीख मिलती है कि यदि मन का कहना मानोगे तो जीवन भर मन की गुलामी करनी पड़ेगी| एक महात्मा ने कैसे अपने मन को समझाया और कैसे अपने मन को वश में किया, यह इस कहानी के माध्यम से समझाया गया है| एक बार एक महात्मा बाजार से होकर गुजर रहा था| रास्ते में एक व्यक्ति खजूर बेच रहा था| उस महात्मा के मन में विचार आया कि खजूर लेनी चाहिए| उसने अपने मन को…

read more